एक सीरीज ही में 35 साल बाद 4 ओपनर आजमाए, 11 साल बाद दो अंडर-23 प्लेयर्स का डेब्यू

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का तीसरा मैच सिडनी में खेला जा रहा है। इस मैच के शुरु होने के साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने इस सीरीज में दो रिकॉर्ड बदलाव किए हैं। पहला-11 साल बाद एक ही सीरीज में ऑस्ट्रेलिया की ओर से दो अंडर-23 खिलाड़ियों ने टेस्ट डेब्यू किया। दूसरा 35 साल बाद एक ही सीरीज में 4 ओपनर को मौका मिला।

पुकोव्स्की ने टेस्ट डेब्यू किया

तीसरे टेस्ट मैच में पुकोव्स्की ने टेस्ट डेब्यू किया। वे ऑस्ट्रेलिया के 460 वें टेस्ट खिलाड़ी हैं। पुकोव्स्की की उम्र 22 साल 339 दिन हैं। वहीं सीरीज के पहले टेस्ट मैच में कैमरून ग्रीन ने भी डेब्यू किया। उनकी उम्र उस समय 21 साल 197 दिन था। हालांकि कैमरून पहले टेस्ट में कुछ खास नहीं कर पाए। लेकिन दूसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में उन्होंने 45 रन बनाकर अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। पुकोव्स्की ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए टेस्ट टीम में जगह बनाई है। पुकोव्स्की ने 23 फर्स्ट क्लास मैच में 6 शतक के साथ 1744 रन बनाए हैं।

2011-12 में न्यूजीलैंड के खिलाफ स्टार्क और पेटिंसन ने किया था टेस्ट डेब्यू
इसी तरह दो खिलाड़ियों ने 2011-12 में न्यूजीलैंड के साथ हुई टेस्ट सीरीज के दौरान डेब्यू किया था। उनमें मिचेल स्टार्क और दूसर जेम्स पेटिंसन है। दोनों ही सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के टीम के सदस्य हैं। हालांकि पेटिंसन मांस पेशियों में खिंचाव के कारण तीसरे टेस्ट से बाहर है। जबकि स्टार्क टीम में शामिल हैं। उस समय स्टार्क की उम्र 21 साल 305 दिन थी, जबकि पेटिंसन 21 साल 212 दिन के थे।
शुरुआती दो मैचों में मैथ्यू वेड और जो बर्न्स ने की पारी की शुरुआत
भारत के साथ खेले जा रहे चार मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले और दूसरे मैच में आस्ट्रेलिया के लिए मैथ्यू वेड और जो बर्न्‍स ने पारी की शुरुआत की थी, लेकिन गुरुवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर शुरू हुए तीसरे टेस्ट मैच में डेविड वॉर्नर ने विल पुकोव्स्की के साथ पारी की शुरुआत की।
पुकोव्स्की का पहला टेस्ट है ,जबकि वॉर्नर चोट के बाद टीम में वापसी कर रहे हैं। वॉर्नर को तीन वनडे मैच की सीरीज के दूसरे मैच में चोट लग गई थी। जिसकी वजह से वह तीन टी-20 मैचों की सीरीज और टेस्ट के शुरुआती दो मैचों में नहीं खेल पाए थे। तीसरे टेस्ट में उनकी वापसी हुई है। हालांकि वे पारी के लिए अच्छी शुरुआत नहीं कर पाए। मोहम्मद सिराज ने उन्हें पांच रन पर आउट कर दिया।

1985-86 में न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में चार ओपनर आजमाए थे

वहीं आस्ट्रेलिया ने 1985-86 सीरीज में न्यूजीलैंड के खिलाफ एक ही सीरीज में चार ओपनर आजमाए थे। पर्थ टेस्ट में जहां एंड्रयू हिल्डिच और कैपलर वेसेल्स ने पारी की शुरुआत की थी वहीं सिडनी टेस्ट में रोबी केर और वेन फिलिप्स ने सलामी बल्लेबाज की भूमिका निभाई थी।




Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में विल पुकोव्स्की ने टेस्ट डेब्यू किया है। जबकि डेविड वॉर्नर की वापसी हुई है। वह चोट की वजह से शुरुआती दो मैचों में नहीं खेल सके थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2XfB5fN
https://ift.tt/3ol3NI8

No comments: