भारतीय खिलाड़ी बोले- फैंस स्टेडियम जाएं और हम क्वारैंटाइन में रहें, यह जू में जानवरों जैसा बर्ताव

भारतीय क्रिकेट टीम को लगता है कि उनके साथ ऑस्ट्रेलिया में अच्छा बर्ताव नहीं किया जा रहा। दोनों टीमें 4 टेस्ट की सीरीज का तीसरा मैच खेलने के लिए सोमवार को सिडनी के लिए रवाना हो गई हैं। यह मैच 7 जनवरी से होगा। इसके लिए सभी खिलाड़ियों का कोरोना टेस्ट किया गया। सभी की रिपोर्ट निगेटिव है। टीम को कोरोना प्रोटोकॉल के चलते सिडनी के होटल में क्वारैंटाइन रखा जा सकता है। ऐसे में भारतीय खिलाड़ियों ने अपनी नाराजगी जताई है।

टीम इंडिया के सूत्रों के हवाले से क्रिकेट वेबसाइट क्रिकबज ने लिखा- यदि आप स्टेडियम में फैंस (20 हजार लोगों) को एंट्री देते हैं। उन्हें आजादी से जीने की अनुमति देते हैं और हमसे कहते हैं कि सीधे होटल जाओ और क्वारैंटाइन में रहो। खासकर तब जब हमारा कोरोना टेस्ट भी निगेटिव हो, तो यह जू में जानवरों को रखने जैसा बर्ताव है। हम नहीं चाहते, ऐसा हो।

आम नागरिक की तरह नियमों का पालन करेंगे
उन्होंने कहा- हमसे सिडनी में जो कहा जाएगा, वह नियम का पालन हम करेंगे। हम चाहते हैं कि हम भी हर ऑस्ट्रेलियन नागरिक की तरह ही हम भी नियमों का बराबरी से नियमों का पालन करें। इसलिए यदि दर्शकों को स्टेडियम में आने की अनुमति नहीं मिलती है, तभी कोई मतलब बनता है कि हमसे क्वारैंटाइन में रहने के लिए कहा जाए।

सिडनी-ब्रिस्बेन में रूम से निकलने की अनुमति नहीं होगी
टीम सूत्रों ने खुलासा किया है कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) की मेडिकल टीम ने पिछले हफ्ते सख्त निर्देश दिए थे कि उन्हें होटल रूम से निकलने की अनुमति नहीं मिलेगी। खासकर सिडनी और ब्रिस्बेन टेस्ट के दौरान। भारतीय खिलाड़ियों ने उनकी यह बात स्वीकार भी कर ली थी। हालांकि टीम मैनेजमेंट ने तुरंत ही मेडिकल टीम से कह दिया था कि यह स्थिति उन्हें स्वीकार करने में मुश्किल होगी।

क्वींसलैंड सरकार की हिदायत
हाल ही में रिपोर्ट्स में दावा किया गया था भारतीय टीम क्वारैंटाइन नियमों के कारण ब्रिस्बेन में नहीं खेलना चाहती है, क्योंकि वहां खिलाड़ियों को ट्रेनिंग के अलावा बाहर जाने की इजाजत नहीं होगी। वहीं, क्वींसलैंड सरकार ने सख्त लहजे में हिदायत दी है कि अगर नियमों के हिसाब से चलना हो, तो ही टीम इंडिया ब्रिस्बेन में चौथा टेस्ट खेलने के लिए आए।

रोहित समेत 5 खिलाड़ियों पर नियम तोड़ने की जांच चल रही
रोहित शर्मा, शुभमन गिल, पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत और नवदीप सैनी पर बायो-बबल तोड़ने का आरोप लगा है और जांच चल रही है। एक जनवरी को एक वीडियो और कुछ फोटो वायरल हुए थे, जिसमें पांचों खिलाड़ी एक होटल के अंदर बैठकर खाना खाते दिख रहे। इसके बाद इन सभी पर नियम तोड़ने का आरोप लगा और सभी को आइसोलेट किया गया। हालांकि, पांचों खिलाड़ी टीम के साथ सिडनी पहुंचेंगे।

इस विवाद पर भारतीय टीम के सूत्रों ने कहा- सभी खिलाड़ी बारिश होने के कारण होटल के अंदर बैठकर खाना खा रहे थे। यह हमारे समझ से परे है कि क्यों इन खिलाड़ियों को आइसोलेट किया गया। उन्हें फ्लाइट में भी अलग बैठाने के लिए कहा गया है। खासकर तब जब उनका भी कोरोना टेस्ट निगेटिव आता है, तब भी उन्हें अलग ही रखा जाएगा।

ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए भारतीय खिलाड़ियों ने काफी त्याग किया
भारतीय टीम IPL के दौरान सितंबर के बाद से लगातार क्वारैंटाइन और बायो-बबल में ही है। ऑस्ट्रेलिया में भी उन्हें सख्त नियमों का पालन करना पड़ रहा है। इस सवाल के जवाब में सूत्रों ने कहा- हमारे खिलाड़ियों ने इस दौरे के लिए काफी कुर्बानी दी है। जैसे मोहम्मद सिराज के पिता का इंतकाल हो गया, लेकिन वे घर नहीं गए और पिता को आखिरी विदाई नहीं दे सके। हमारे बाकी खिलाड़ी भी लगातार 6 महीने से बायो-बबल में रह रहे हैं। यह आसान नहीं होता।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
टीम इंडिया ने 4 टेस्ट की सीरीज में ऑस्ट्रेलिया को दूसरे मैच में 8 विकेट से शिकस्त दी थी। इसी के साथ दोनों टीम के बीच सीरीज 1-1 से बराबरी पर है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/35608pX
https://ift.tt/3b13gY9

No comments: