https://ift.tt/3pZl0Hw

दुनिया भर में आज का दिन विश्व हिंदी दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। इस दिन की शुरुआत 10 जनवरी, 1975 को नागपुर में हुए पहले विश्व हिंदी सम्मेलन के महत्व को याद करने के लिए की गई थी। विश्व हिंदी दिवस का मुख्य उद्देश्य दुनिया में हिंदी भाषा को बढ़ावा देना है। यही वजह है कि दुनिया भर में स्थित भारतीय दूतावास इस दिन कई कार्यक्रम आयोजित करते हैं।

दुनिया में तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा हैं हिंदी

देश में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली इस भाषा में करिअर के भी कई विकल्प मौजूद है। कई हिंदी भाषी लोग इसमें अपना करिअर बना सकते हैं। दुनिया की तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली इस भाषा में निपुण लोग बिना इंग्लिश या अन्य कोई भाषा को जाने भी एक बेहतर करिअर पा सकते हैं। आइए विश्व हिंदी दिवस के मौके पर जानते है हिंदी भाषा में करिअर के ढेरों विकल्प-

कई जगह है करिअर के बेहतर ऑप्शन

प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, इंटरनेट, नेशनल और इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म और इंस्टीट्यूट में हिंदी के प्रयोग में काफी बढ़ोतरी देखने को मिली है। इतना ही नहीं सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में भी अब हिंदी का दबदबा है। गूगल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी दिग्गज कंपनियों ने भी हिंदी में बहुत बड़े पैमाने पर काम करना शुरू कर दिया है।

पत्रकारिता

हिंदी पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के बीच पत्रकारिता करिअर का एक आकर्षक विकल्प है। इस समय सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले समाचार पत्रों और सबसे ज्यादा देखे जाने वाले समाचार चैनलों में दो तिहाई से ज्यादा हिंदी के हैं। ऐसे में समाचार चैनलों और अखबारों के अलावा हिंदी के अनेक चैनल और पत्र-पत्रिकाओं में भी आप करिअर बना सकते हैं।

राजभाषा अधिकारी

केंद्रीय संस्थानों और कार्यालयों में राजभाषा अधिकारी के पद पर भी काम किया जा सकता है। हिंदी में पोस्ट ग्रेजुएट है तो राजभाषा अधिकारी के रूप में आप यहां अपना करिअर बना सकते हैं। यहाँ अच्छे वेतनमान के साथ हिंदी भाषा के क्षेत्र में भी कार्य करने का अच्छा अवसर मिलता है।

टीचिंग

हिंदी पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के लिए अध्यापन (टीचिंग) के क्षेत्र में भी करिअर के कई अवसर मौजूद है। यहां उच्च शिक्षण संस्थानों से लेकर प्राथमिक स्तर तक शिक्षण के अवसर योग्यतानुसार उपलब्ध हैं। हिंदी में पोस्ट ग्रेजुएट करने के बाद ‘राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा’ (NET) क्वालिफाय कर चुके कैंडिडेट्स इस फील्ड में किस्मत आजमा सकते हैं।

ट्रांसलेटर/इंटरप्रिटर

अनुवाद (ट्रांसलेशन) का क्षेत्र बहुत बड़ा है। दुनिया भर में जैसे-जैसे हिंदी का प्रयोग बढ़ रहा है, वैसे-वैसे ट्रांसलेटर और इंटरप्रिटर की माँग बढ़ती जा रही है। कई देशी-विदेशी मीडिया संस्थान, राजनैतिक संस्थाएं, पर्यटन से जुड़े संस्थान और बड़े-बड़े होटलों में ट्रांसलेटर और इंटरप्रिटर की काफी मांग है। युवाओं को चाहिए कि अपने अनुरूप अवसरों को तलाश कर इस क्षेत्र में अपना भविष्य सुरक्षित करें।

रेडियो जॉकी और न्यूज रीडर या एंकर

हिंदी में अच्छी पकड़ रखने वाले लोग रेडियो जॉकी और न्यूज रीडर या एंकर की फील्ड में भी अपना करिअर बना सकते हैं। अगर आपकी आवाज अच्छी है और आप में लोगों का मनोरंजन करने की क्षमता है तो यह एक बेहतरीन करिअर ऑप्शन है। इनसे संबंधित कोई प्रोफेशनल कोर्स कर लेने से काम मिलने में आसानी हो जाती है।

रचनात्मक लेखन

रचनात्मक लेखन के क्षेत्र में जाने वालों के लोगों के पास दो विकल्प होते हैं। पहला ‘स्वतंत्र लेखन’ (फ्रीलांसिंग) और दूसरा फिल्म, टीवी, रेडियो आदि में राइटिंग। हालांकि, दोनों में कोई खास अंतर नहीं है। दोनों ही रूप में आप काम एक ही करते हैं। आप शुरुआत किसी संस्था से जुड़कर कर सकते हैं। बाद में अनुभव होने के बाद नौकरी छोड़कर फ्रीलांसिंग कर सकते हैं। ब्लॉग राइटिंग भी एक शानदार उदाहरण है। आप अपनी पसंद का कोई विषय चुनकर इसकी शुरुआत कर सकते हैं।

हिंदी भाषा के प्रमुख शिक्षण संस्थान

  • अंतर्राष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय पंचटीला, वर्धा (महाराष्ट्र)
  • माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय, भोपाल (मध्य प्रदेश)
  • इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन, जे एन यू कैम्पस (नई दिल्ली)
  • बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, बनारस (उत्तर प्रदेश )
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • दक्षिण भारत हिंदी प्रचार सभा, चेन्नई (तमिलनाडु)
  • आंध्र विश्वविद्यालय, विशाखापटनम (आंध्र प्रदेश)
  • इग्नू (IGNOU), नई दिल्ली
  • बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी झांसी

विदेश में हिंदी पढ़ाने वाली कुछ संस्थाएं

  • यूनिवर्सिटी ऑफ शिकागो
  • बॉस्टन यूनिवर्सिटी
  • यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोनिया
  • यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन
  • यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन
  • कॉर्नेल यूनिवर्सिटी

14 सितंबर को मनाया जाता है राष्ट्रीय हिंदी दिवस

इस समय दुनियाभर में हिंदी बोलने वालों में 60 करोड़ से ज्यादा लोग शामिल है। जबकि, हिंदी समझने लोगों की यह संख्या करीब 1 अरब के आसपास होगी। ऐसे में कहा जा सकता है हिंदी भविष्य में तेजी से उभरने वाली भाषा में से एक है। वहीं राष्ट्रीय हिंदी दिवस की बात करें तो यह हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। दरअसल, 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा ने हिंदी को देश की आधिकारिक भाषा और देवनागरी को आधिकारिक लिपि के रूप में अपनाया था।जिसके बाद से ही इस दिन को राष्ट्रीय हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
World Hindi Day 2021| Career in Hindi Language; If you have a good grip in Hindi language, then you can make a career in these areas; check here the top indian and foreign universities offering hindi


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3pZl0Hw
https://ift.tt/3sl6OuC

No comments: